Jumme ke Din ki Fazilat, Sunnat, Amal क्या है

Jumme ke Din ki Fazilat aur Amal Kya Hai

क्या आपको मालूम है की Jumme ke Din ki Fazilat क्या है और जुम्मे के दिन की सुन्नत, अमल और अज्कार क्या है इसके बारे में बहुत कम लोगो को मालूम होगा इसीलिए आज की पोस्ट में Jumma ki Fazilat के साथ बहुत कुछ बताने वाला हूँ।

आमतौर पर लोग जानते है की जुम्मा के दिन घुसल करना है और अच्छी कपड़ा पहनना है और 2 Rakat Jumma ki Namaz पढ़ लेना है।

बस इसी को लोग समझते है की यही जुम्मा का मतलब है वैसे भी जुम्मा में नमाज़ ही फ़र्ज़ है जिसको करना बेहद जरुरी है जो नहीं पढ़ता है वह गुनाहगार होगा।

लेकिन दोस्तों सिर्फ नमाज़ पढ़ लेना ही काफी नहीं है इसके अलावा जुमा की सुन्नत होती है जिसको जुम्मा के दिन करना चाहिए।

इसके अलावा जुम्मा का अमल और तस्बीह है जो नमाज़ के बाद ये सभी अज्कार करना चाहिए लेकिन आपको ये पहले ही बता दिया जा रहा है की जो बताने जा रहा हूँ वह फ़र्ज़ नहीं है।

मतलब जो निचे बताया जा रहा है यह नहीं करेंगे तो भी गुनाह नहीं होगा लेकिन जो सख्स करता है तो अल्लाह सुबान व ता’अला उसको फ़ज़ीलत और बरकत से नवाजते है।

Jumme ke Din ki Fazilat

जुम्मा के बारे में जानने के बाद अब जानते है की जुम्मा के दिन अल्लाह सुबान व ता’अला क्या क्या फ़ज़ीलत दिया है और जो सख्स इन दिन की एहतेराम करता है उसको क्या देता है।

बेशक! जुमे का दिन तमाम दिनों का सरदार है और अल्लाह के नजदीक सबसे ज़्यादा अजमत वाला है। यह दिन अल्लाह के यहां ईदुल फितर और ईदुलजुहां से भी ज़्यादा फजीलत रखता है।

Juma ke Din ki Fazilat बहुत सारे है लेकिन यहाँ पर कुछ ही बताया जा रहा है जो की पांच खुसूसियात है।

  1. अल्लाह तआला ने इसी दिन हजरत आदम अलैहि सलाम को पैदा किया।
  2. इसी दिन उन्हें जमीन की तरफ उतारा।
  3. इसी दिन उनकी वफात हुई।
  4. इसमें एक घड़ी ऐसी है कि उसमें बन्दा अल्लाह से जिस चीज का सवाल करता है, अल्लाह उसे वह अता करता है बशर्ते कि वह हराम का सवाल न करें।
  5. इसी दिन कयामत कायम होगी और मुकर्रिब फरिश्ते, आसमान, जमीन, हवाएं, पहाड़ और समन्दर सब के सब जुमे के दिन से डरते है।” (इब्ने माजा-1084-सही)

Jumme ke Din ki Sunnat

दोस्तों Jumme ke Din ki Fazilat और बरकत जानने के बाद ये भी जानना जरुरी है की Jumme ke Din ki Sunnat क्या है यानि हम लोगो को जुमा के दिन क्या क्या करना चाहिए।

जो हमारे नबी सल्लल्लाहु अलैहे वसल्लम ने जुम्मा के दिन वह अमल किया या वह काम करने का हुक्म दिया उस पर तमाम मुस्लमान को अमल और एहतेराम करना जरुरी है।

नाख़ून काटना:- जुम्मा के दिन हाथ और पैर की नाख़ून जरुर काटना चाहिए इससे आपकी नाख़ून में गंदगी नहीं रहेगी तो नाख़ून की वजह से कोई बीमारी भी नहीं होगी।

घुसल करना:- यानि इस दिन सब लोगो को चाहिए की अच्छी तरह से घुसल (नहाना) करे और एक हदीस में आया है की जुम्मा के दिन घुसल करना सुन्नत है।

पाक साफ कपड़े पहनना:- दोस्तों हम सब को मालूम है की नबी सल्लल्लाहु अलैहे वसल्लम फरमाते है की मुसलमानों के लिए जुम्मा एक फेस्टिवल और त्योहार है इसी लिए सभी मुस्लिम को चाहिए की नया कपड़ा पहने नया नहीं है तो पुराना ही पहने लेकिन पाक व साफ़ होना चाहिए।

खुशबू लगाना:- घुसल करने के बाद अच्छी कपड़ा पहने फिर खुशबू इत्र लगाये क्युकी हमारे नबी सल्लाहू अलैहे वसल्लम की सुन्नत है।

Jumme ke Din ka Amal

दोस्तों Jumme ke Din ki Fazilat के साथ जुम्मा का अमल भी जानना आप सभी के लिए जरुरी है क्युकी आपको मालूम होना चाहिए की जुम्मा की नमाज़ के अलावा क्या क्या अमल होता है जो जुम्मा में करना चाहिए।

कुरान की तिलावत:- अगर कुरान शरीफ की तिलावत नहीं करते अपने काम की वजह से तो कम से कम जुम्मा के दिन कुरान शरीफ की तिलावत जरुर करे।

दरूद शरीफ:- दोस्तों जितना ज्यादा हो सके जुम्मा के दिन दरूद शरीफ कसरत से पढ़े आप सभी को कोई भी दरूद याद है वह पढ़ सकते है नहीं तो दरुदे इब्राहीम पढ़े।

सुरह जुमा:- जुम्मा की नमाज़ पढ़ने का हुक्म कहा से मिलता है नहीं मालूम है तो आपको बता दे की इसकी जानकारी सुरह जुमा से मिलता है. वैसे भी मुहम्मद सल्लल्लाहु अलैहे वसल्लम जुम्मा के दिन सुरह जुमा पढ़ा करते।

सुरह कहफ़:- इस सुरह को जुम्मा ही नहीं कभी भी पढ़ते है तो आपको बहुत फ़ज़ीलत और बरकत मिलती है एक बार हमारे नबी सल्लल्लाहो अलेही वसल्लम ने फरमाया कि जो शख्स जुम्मे के दिन सुरह कहफ़ पढेगा तो अल्लाह उस जुमा से लेकर अगले जुमा के बीच उसके लिए एक नूर को रोशन कर देगा।

आज क्या सिखने को मिला

दोस्तों मुझे उम्मीद है की आप सभी की Jumma ki Fazilat वाली पोस्ट अच्छी लगा होगा जिसमे आपको सिखने को मिला की Jumme ke Din ki Fazilat क्या है।

जुम्मे के दिन की सुन्नत और अमल क्या है जिसको करने से अल्लाह सुबान व ता’अला बहुत फ़ज़ीलत और बरकत नाजिल करता है।

निचे कमेंट करके बताये की ये पोस्ट कैसा लगा इसके अलावा इस के मुताल्लिक किसी भी किस्म का सवाल है तो भी कमेंट जरुर करे।

इसी तरह का इस्लामिक जानकारी लेना चाहते है तो इस वेबसाइट को अपने दोस्तों और फॅमिली के साथ सोशल मीडिया में शेयर करे और सवाब हासिल करे खुदा हाफिज!!

Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *