Ghar me Dakhil Hone ki Dua | घर में दाखिल होने की दुआ

अस्सलामु अलैकुम दोस्तों क्या मालूम है आपको आज क्या सीखने वाले हो जिसको सीख घर पढ़ने से घर में बरकत होती है, जिसे Ghar me Dakhil Hone ki Dua कहा जाता है।

घर में दाखिल होते वक़्त यह दुआ पढ़ने से आप सभी के घर में सैतान नहीं घुस पता है। क्युकी अक्सर हम लोग घर से बाहर किसी ना किसी काम से जाते रहते है और इसी बिच आपके साथ शैतान भी आपके साथ घर में घुसने की कोशिश करता है।

और जो इस दुआ को पढ़ता है तो वह इन सभी चीजों से महफूज़ रहता है इसीलिए आज की पोस्ट में Ghar mein Dakhil Hone ki Dua को आसान भाषा में सीखने की कोशिश किया गया है।

Ghar me Dakhil Hone ki Dua

नाज़रीन घर में दाखिल होते वक़्अत ल्लाह ता’अला का ज़िक्र करना चाहिए और ज़िक्र करने का क्या फायदा होगा तो हुजुर सल्लल्लाहु अलैहे वसल्लम ने इरसाद फ़रमाया की “जब कोई शख्स घर में दाखिल होते वक़्त और खाना खाते वक़्त अल्लाह का ज़िक्र करे तो शैतान अपने साथियों से कहता है की तुम अब इस घर में ना रह सकते हो और तुम्हारे लिए यहाँ पर खाना है।” (मुस्लिम शरीफ)

तो दोस्तों इसीलिए आप सभी को Ghar me Dakhil Hote Waqt ki Dua और Ghar se Bahar Nikalte Waqt ki Dua सीखना मुसलमानों के लिए जरुरी है।

अब आप यह सोच रहे होंगे की जब जब घर में दाखिल होंगे तब तब यह दुआ पढ़ना होगा लेकिन यह दुआ तो पढ़ना मुश्किल होगा तो जी हाँ शुरू शुरू में मुश्किल होगा लेकिन जब यह आदत हो जायेगा तो आसान लगने लगेगा।

जब कोई शख्स घर से बाहर शौपिंग करने या घुमने या किसी भी काम से बहार जाता है और जब घर में जाने लगे तो Ghar mein Dakhil Hote Waqt ki Dua को जरुर पढ़े।

Ghar me Dakhil Hone ki Dua
Ghar me Dakhil Hone ki Dua Image

Ghar me Dakhil Hone ki Dua in Arabic

اَللّٰھُمَّ اِنِّیْ اَسْئَلُکَ خَیْرَالْمَوْلِجِ وَخَیْرَالْمَخْرَجِ بِسْمِ اللّٰہِ وَلَجْنَا وَبِسْمِ اللّٰہِ خَرَجْنَا وَعَلَی اللّٰہِ رَبِّنَا تَوَکَّلْنَا

Ghar me Dakhil Hone ki Dua in Hindi

अल्लाहुम्मा इन्नी अस अलुका खैरल मौलजी वा खैराल मखरजी बिस्मिल्लाही वलजना व बिस्मिल्लाहि खराजना व अलल्लाही रब्बिना तवक्कलना।

Ghar me Dakhil Hone ki Dua in English

Allahumma innee as’aluka khairal maulaji wa khairal makhraji bismillahi walajnaa wa bismillahi kharajnaa wa alallahi rabbina tawakalna.

Ghar me Dakhil Hone ki Dua with Tarjuma

अल्लाह के नाम पर हम दाख़िल होते हैं और अल्लाह ही के नाम पर हम निकलते हैं, और अपने रब पर हम भरोसा रखते हैं।

Ghar me Dakhil Hone ki Sunnat

नाज़रीन आप सभी ने अभी अभी घर में दाखिल होते वक़्त की दुआ याद कर लिया होगा जिसका फायदा और सवाब बहुत ज्यादा है लेकिन दुआ के बाद सलाम भी करना अच्छा माना जाता है।

अब इसके मुताल्लिक दो हदीस आपके सामने रखता हूँ जिसमे एक हदीस से होगा और दूसरा कुरान से होगा जिससे आपकी इमान ताजा हो जाएगी।

मुहम्मद सल्लल्लाहु अलैहे वसल्लम ने फ़रमाया की “जो शख्स घर में दाखिल होने लगे तो पहले दुआ पढ़े (जो ऊपर बताया गया है) फिर घर वालो सलाम करे।” (Abu Dawud 5096)

कुरान शरीफ: “जब तुम घर वालों में जाने लगो (और वहाँ किसी का न पाओ) तो ख़ुद अपने ही ऊपर सलाम कर लिया करो जो ख़ुदा की तरफ से एक मुबारक पाक व पाकीज़ा तोहफा है।” (Surah Nur 61)

आज आपने क्या सीखा

नाज़रीन आप सभी को Ghar me Dakhil Hone ki Dua कैसा लगा जिसमे यह सीखने को मिला की इस दुआ को पढ़ने से शैतान से महफूज़ रहते है।

और इस दुआ को अच्छी तरह से सीखने के लिए इसको तिन भाषा में लिखा गया है सबसे पहला अरबी जिसमे कुरान लिखा गया है फिर हिंदी, इंग्लिश।

नाज़रीन इस्लाम में हिफाज़त के हवाले से बहुत सारे दुआ बताया गया है जो अलग अलग मौके पर पढ़ा जाता है जैसे कुछ दुआ निचे बताया गया है।

दोस्तों यह इनफार्मेशन कैसा लगा और इसी तरह का हिफाज़त दुआ सीखना चाहते है तो इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर करे।

Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *