Azan ke Baad ki Dua in Hindi | अज़ान के बाद की दुआ

अस्सलामु अलैकुम दोस्तों, आज की पोस्ट में एक अहम और बहुत फ़ज़ीलत वाली दुआ के बारे में बात करने वाले है जिसे Azan ke Baad ki Dua के नाम से जाना जाता है।

अज़ान की दुआ को याद करना ही एक बहुत बड़ी फ़ज़ीलत मानी जाती है जिसको सीखने के लिए आप यहाँ पर तसरीफ लाए है। यह दुआ को सिखाने के लिए भरपूर कोशिश किया गया है जिसमे अलग अलग भाषा और तर्जुमा के बताया गया है।

अज़ान वह कुछ चंद अल्फाज़ है जो हर दिन 24 घंटे में 5 बार सुनते है इससे आपको यह अंदाज़ा हो जाना चाहिए की नमाज़ भी पांच वक़्त ही पढ़ा जाता है।

इससे यह साबित हुआ की जब जब नमाज़ का वक़्त होता है उससे पहले नमाज़ पढ़ने के बुलावा के लिए अज़ान देते है। इसके और भी कारण जो आपको निचे सीखने को मिलने वाला है।

अज़ान क्या है?

अज़ान का मतलब ऐलान होता है यानी नमाज के लिए लोगो को मस्जिद में बुलाने की दावत दी जाती है और लोग मस्जिद में पहुँचते हैं अज़ान की आवाज सुन कर इसे अजान कहा जाता है।

दूसरे शब्दों में हम यह भी कह सकते है कि अल्लाह के घर में यानी मस्जिद में नमाज की दावत के लिए पुकारना ही अज़ान है।

यहाँ पर सिर्फ मस्जिद के लिए अज़ान नहीं होती बलके सभी अवाम जो मस्जिद के अलावा जैसे घर दुकान फैक्ट्री में नमाज़ अदा करते है।

अज़ान का जवाब देने का तरीका

अज़ान:- अल्लाहु अकबर अल्लाहु अकबर (2 बार)
जवाब:- अल्लाहु अकबर अल्लाहु अकबर (2 बार)
तर्जुमा:- अल्लाह बहुत बड़ा है , अल्लाह बहुत बड़ा है (2 बार)

अज़ान:- अशहदु अंल्लाइलाहा इल्लल्लाहु (2 बार)
जवाब:- अशहदु अंल्लाइलाहा इल्लल्लाहउ (2 बार)
तर्जुमा:- में गवाही देता हूँ की अल्लाह के अलावा कोई माबूद नहीं (2 बार)

अज़ान:- अशहदु अन्ना मुहम्मदर रसुलल्लाह (2 बार)
जवाब:- अशहदु अन्ना मुहम्मदर रसुलल्लाह (2 बार)
तर्जुमा:- में गवाही देता हूं की हज़रत मुहम्मद सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम अल्लाह के रसूल हैं (2 बार)

अज़ान:- हय्या अलस्सल्लाह (2 बार)
जवाब:- लाहौ ला कुव्व ता इल्ला बिल्लाह (2 बार)
तर्जुमा:- आओ नमाज़ पढ़ने के लिए (2 बार)

अज़ान:- हय्या अलल फलाह (2 बार)
जवाब:- लाहौ ला कुव्व ता इल्ला बिल्लाह (2 बार)
तर्जुमा:- आओ निजात पाने के लिए (2 बार)

अज़ान:- अल्लाहु अकबर अल्लाहु अकबर
जवाब:- अल्लाहु अकबर अल्लाहु अकबर
तर्जुमा:- अल्लाह बहुत बड़ा है , अल्लाह बहुत बड़ा है

अज़ान:- ला इल्लाहा इल्लल्लाह
जवाब:- ला इल्लाहा इल्लल्लाह
तर्जुमा:- अल्लाह के सिवा कोई माबूद नहीं

अज़ान:- अस्‍सलातु खैरूं मिनन नउम अस्‍सलातु खैरूं मिनन नउम (सिर्फ फज़र अज़ान में)
जवाब:- अस्‍सलातु खैरूं मिनन नउम अस्‍सलातु खैरूं मिनन नउम
तर्जुमा:- नमाज़ नींद से बहतर है नमाज़ नींद से बहतर है

Azan ke Baad ki Dua

नाज़रीन क्या आपको सिर्फ अज़ान की दुआ ही सीखना मकसद है या इसके बारे में जानना की यह दुआ क्या कह रहा है यानि इसका मतलब तर्जुमा भी सीखना है।

अगर आपको दुआ और तर्जुमा सीखना है तो इस ब्लॉग से अच्छा कोई हो ही नहीं सकता है क्युकी इसमें आपको अरबिक में दुआ के साथ हिंदी और इंग्लिश में दिया गया है। अगर इससे से भी समझ में ना आए तो इमेज में देख कर भी याद कर सकते है।

Azan ke Baad ki Dua
Azan ke Baad ki Dua Image

Azan ke Baad ki Dua in Arabic Text

اَللّٰہُمَّ رَبَّ ھٰذِہِ الدَّعْوَةِ التَّآمَّةِ وَالصَّلٰوةِ الْقَآئِمَةِ اٰتِ مُحَمَّدَنِ الْوَسِیْلَةَ وَالْفَضِیْلَةَوَالدَّرَجَتَہ الرَّفِیٌعَتَہ وَابْعَثْہُ مَقَامًا مَّحْمُوْدَنِ الَّذِیْ وَعَدْتَّہ وَر زُکنا شَفاعَتَھُ یَوٌمَ الٌقِیٰمَتہِ اِنَّکَ لَا تُخٌلِفُ الٌمِیٌعَاد

Azan ke Baad ki Dua in Hindi

अल्लाहुम्मा रब्बा हाज़ीहिल दावती-त-ताम्मति वस्सलातिल कायिमति आती मुहम्मदानिल वसिलता वल फ़ज़ीलता वद्दरजतल रफ़ीअता वब’असहू मक़ामम महमूदा निल्ल्जी व्’अत्तहू वर ज़ुक्ना शफ़ाअतहु यौमल क़ियामती इन्नका ला तुखलिफुल मीआद

अज़ान के बाद की दुआ तर्जुमा मीनिंग के साथ

ऐ मेरे अल्लाह जो इस सारी पुकार का रब है और कायम रहने वाली नमाज़ का भी रब है, नबी-ऐ-करीम मुहम्मद (ﷺ) को क़यामत के दिन वसीला अता फ़रमा और मुकाम-ए-महमूद पर उनका क़याम फर्मा जिसका तूने उनसे वादा किया है।
Sahih Bukhari, Vol 1, 614

Azan ke Baad ki Dua in Roman English

Allahumma Rabba Haziheed Da’wateet Taammati Wassalatil Ka-emati Aatee Sayyideena Muhammada Nil Wasilata Wal Fadilata Wad Dar Jatrrafi Ataa wabaa Asahoo Makaamam Mahmu Danil Lazi W Attahu Warazakna Shafaa Atuhu Yaumal Kiyamati Innaka La Tukhliful Mi’Aaad.

Azaan ke Baad ki Dua in English Translation

O Allah!  O Almighty, the Lord of this whole call and the everlasting prayer, Hazrat Muhammad S.A.  Give us the blessings and virtues and high status and raise them in the maqama Mahmud which you promised them and banish us from their sacrifice on the Day of Judgment.  Of course you do not disobey.

अजान के बाद की दुआ उर्दू में

یااللہ !اس کامل اعلان اور قائم ہونے والی نماز کے مالک، محمدۖکو مقامِ وسیلہ عطا فرما اور ان کی فضیلت میں اضافہ فرما اور ان کو مقامِ محمود پر پہنچا جس کا تو نے ان سے وعدہ کیا ہے ۔

मेरा मानना यह है की सिर्फ Azan ke Baad ki Dua और इसका तर्जुमा जान लेना काफी नहीं है बलके यह दुआ क्यों और किस लिए इसके बारे में जानना भी जरुरी है।

अज़ान से जुड़ी कुछ जरूरी मसाइल

  • जो अज़ान के वक्त बातों में मशगूल रहे उस पर मआजअल्लाह खात्मा बुरा होने का खौफ है।
  • हम पूरे दिन में पांच मर्तबा हर रोज अज़ान सुनते हैं, और हमें यह मालूम होना चाहिए कि अज़ान सुनते वक़्त बाते नहीं करना चाहिए और सारे दुनियावी काम छोड़ देना चाहिए।
  • रास्ता चल रहा था कि अज़ान की आवाज़ आई तो उतनी देर खड़ा हो जाये और जवाब दे।
  • जब मुअज्जिन अश्हदु अन मुहम्मदुर रसुलुल्लाह कहे तो सुनने वाला दुरूद शरीफ़ पढ़े और मुस्तहब है कि अंगुठों को बोसा देकर आंखों से लगा ले।
  • जब अज़ान हो तो उतनी देर के लिए सलाम कलाम और जवाबे सलाम तमाम अशगाल रोक दें।
  • यहां तक कि कुरआन मजीद कि तिलावत में अज़ान कि अवाज आये तो तिलावत रोक दें।
  • खूत्बे कि अज़ान का जवाब जबान से देना मुक्तदियों को जायज नहीं।

अजान होने के बाद कौन सी दुआ पढ़ी जाती है?

जब मौजिन पूरी अज़ान कह ले उसके बाद दोनों हाथो को उठाकर यह दुआ पढ़े ‘अल्लाहुम्म रब्ब हाजिहिद दअवतित ताम्मति वस्सलातिल काइमति आति सय्यिदिना मुहम्मदा निल वसि‌ ल त वल फदि ल त वद द र जतर्रफी अ त वब अस्हु मकामम महमु दनिल् लजी व अत्तहू वरजक्ना शफा अ तहू यौमल क़ियामति इन्नका ला तुख्लिफुल मीआद।’

अजान के वक्त क्या पढ़ना चाहिए?

अज़ान के वक़्त अज़ान का जवाब देना चाहिए जिसके बारे में पूरी जानकारी ऊपर दिया गया है।

अज़ान के बाद क्या प्रार्थना करनी चाहिए?

अज़ान के बाद इसकी दुआ पढ़ना चाहिए जिसको पढ़ने से आपको क़यामत के दिन सिफ़ाअत मिलेगी।

अजान में क्या पढ़ते हैं?

अज़ान में अल्लाह और मोहम्मद (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) की ज़िक्र के साथ लोगो को नमाज़ पढ़ने के लिए बुलाते है।

अज़ान कितने मिनट का होता है?

अज़ान कितने मिनट का होता है यह अज़ान देने वाले पर निर्भर करता है क्युकी हर शख्स का अपना अपना स्टेमिना (यानि साँस रोकना) होता है लेकिन अज़ान 1 से 2 मिनट का होता है।

अज़ान और नमाज़ में क्या अंतर है?

नमाज़ और अज़ान और बहुत सारे अंतर है यहाँ पर थोड़ा सा आसान करके बताता हूँ की अज़ान नमाज़ पढ़ने के लिए बुलाने का एक प्राथना है।

Azan ki Dua in Hadees

जाबिर बिन अब्दुल्लाह (र.अ.) से रिवायत है कि रसूलअल्लाह सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने फ़रमाया कि, जो शख्स अज़ान सुनकर Ajaan ke Baad ki Dua पढ़े उसे क़यामत के दिन मेरी सफा’अत मिलेगी।📕 Sahih Bukhari, Vol 1, 614

आज यहाँ पर आपने क्या सीखा?

दोस्तों आपको Azaan ki Dua कैसा लगा निचे कमेंट में माशाल्लाह लिखा इज़हार कर सकते है। जिसमे अज़ान के हवाले से बहुत सवालो का जवाब दिया गया है।

Azan ke Baad ki Dua का तो ज़िक्र है की यह दुआ कैसे याद करे उसके अलावा अज़ान क्या है? इसके बारे में सीखा और इसी तरह का जानकारी सीखना पसंद करते है तो हमारे इस वेबसाइट को अपने दोस्त के साथ शेयर करे।

इसी तरह का इस्लामिक जानकारी सीखना चाहते है निचे देखे:

Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *