Attahiyat in Hindi Tarjuma, English and Arabic

Attahiyat in Hindi, English, Arabic

अस्सलाम अलैकुम दोस्तों आज हम Attahiyat in Hindi लेकर आया हूँ जिसकी मदद से आप आसानी से Attahiyat सीख सकेंगे क्युकी अत्ताहियत को आसानी से समझने के लिए हिंदी, इंग्लिश, अरबिक और इसके तर्जुमा भी बताया गया है.

अत्ताहियात को बहुत सारे लोग गलत पढ़ते है और उन्हें मालूम भी नहीं होता है इसी लिए आज तिन भाषा में लेकर आया हूँ जिसको अरबिक नहीं आता है वह हिंदी या इंग्लिश में याद कर सकते है.

Attahiyat Kya Hai?

आसमान में मेराज वक़्त हजरत मुहम्मद सल्लल्लाहु अलैहे वसल्लम और अल्लाह सुबान व ता’अल के दरमियान बात चित को अत्ताहियात कहते है.

जब नबी सल्लल्लाहु अलैहे वसल्लम ने अल्लाह ता’अला से मुलाकात किया तो सलाम पेश नहीं किया क्युकी हम लोग अल्लाह ता’अला को सलाम नहीं कर सकते जबकि तमाम सलामती अल्लाह की तरफ से है.

अत्ताहियात नमाज़ में कब पढ़ा जाता है?

Attahiyat पढ़ने के लिए फ़र्ज़ या सुन्नत नमाज़ का होना जरुरी नहीं है बलके दोस्तों यह दुआ किसी भी नमाज़ में पढ़ सकते है चाहे वह फ़र्ज़ हो या वाजिब और सुन्नत हो या नफिल.

यह 2 रकात, 3 रकात, 4 रकात में पढ़ते है 2 रकात वाली नमाज़ में एक बार पढ़ा जाता है तिन रकात वाली नमाज़ में 2 बार पढ़ा जाता है और चार रकात वाली नमाज़ में 2 बार पढ़ा जाता है.

किसी भी नमाज़ में सजदा करने के फ़ौरन बाद बैठते है तो उसी वक़्त अत्ताहियात पढ़ते है.

Attahiyat In Arabic

Attahiyat in Arabic Language with Text
Attahiyat in Arabic

Attahiyat In Hindi

अत्ताहीयातू लिल्लाही वस्सलावातु वत्तय्यीबातू अस सलामु अलैका अय्यूहन्नबिय्यू वरहमतुल्लाही वबराकातुहू ® अस्सलामुअलैना वआला इबादिल्लाहिस सालिहीन अशहदू अल्ला इलाहा इल्लल्लाहु व अशहदू अन्ना मुहम्मदन अब्दुहू वरसूलुहू

Attahiyat Tarjuma In Hindi

  • तमाम इबादतें अल्लाह के लिए है और तमाम नमाजें और अच्छी बातें (भी अल्लाह के लिए है) ,
  • आप पर सलाम हो एह अल्लाह के नबी (सलअल्लाहू अलैही वसल्लम) और अल्लाह की रहमतें और उसकी बरकतें नज़िल हों,
  • हम पर (भी) सलाम हो और अल्लाह के सभी नेक बन्दों पर (भी सलाम),
  • मैं गवाही देता हूँ की अल्लाह के सिवा कोई माबूद नही,
  • और गवाही देता हूँ की मुहम्मद (सलअल्लाहू अलैही वसल्लम) उसके बंदे और रसूल हैं.

Attahiyat In English

“At-tahiyyatu lillahi
was-salawatu wat-taiyibatu.

Assalamu ‘Alaika aiyuha-n-Nabiyu
warahmatullahi wa-barakatuhu.

Assalamu alaina wa-ala
ibadi-l-lahi as-salihin,

Ashhadu an la ilaha illallah
wa ashhadu anna Muhammadan
Abdu hu wa Rasuluh.“

Attahiyat Translation In English

  • All the compliments are for Allah and all the prayers and all the good things (are for Allah).
  • Peace be on you, O Prophet, and Allah’s mercy and blessings (are on you).
  • And peace be on us and on the good (pious) worshipers of Allah.
  • I testify that none has the right to be worshiped but Allah
  • and that Muhammad is His slave and Apostle.

Tashahhud ya Attahiyat Related Questions (FAQs)

अत्ताहियात के बाद नमाज में क्या पढ़ा जाता है?

किसी भी नमाज़ में ताशःहुद यानि अत्ताहियात पढ़ने के बाद अगर आप आखिरी रकात पढ़ रहे है तो इसके तुरंत बाद दरुदे इब्राहीम को पढ़े .

अत्ताहियात याद ना हो तो क्या करे?

Tashahhud यानि अत्ताहियात नमाज़ में पढ़ना वाजिब है जिस सख्स को याद नहीं है तो उसे याद करने की कोशिश करे और जब तक याद ना हो जाए तब तक नमाज़ में सुबनाल्लाह, अल्हम्दोलिल्लाह, अल्लाहु अकबर कहते रहे और अल्लाह ता’अला से तौबा करते रहे.

क्या अत्ताहियात कुरान की सुरह है?

अत्तहिय्यात कुरान शरीफ का सूरह नहीं है लेकिन हजरत इब्न अब्बास रजी अल्लाहु अन्हो फरमाते हैं कि “अल्लाह के रसूल (सल्लल्लाहू अलेही वसल्लम) हमें अत्तहिय्यात कुरान के सुरह की तरह ही सिखाया करते”.

दोस्तों आप लोग निचे कमेंट में बताये की आपको अत्ताहियात वाली पोस्ट कैसे और इसे अपने दोस्त फॅमिली में भी जरुर शेयर कर दे.

1 Comment

  1. Mohammad tajuddin

    Masha allah
    Achi message diye.
    Sab logon asan tarike samjaye
    Alhmdlilla

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *